रायपुर

महादेव घाट विसर्जन कुंड में दुर्गा विसर्जन का सिलसिला शुरु
26-Oct-2020 5:48 PM 32
महादेव घाट विसर्जन कुंड में दुर्गा विसर्जन का सिलसिला शुरु

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 26 अक्टूबर। नवरात्रि के अवसर पर पंडालों में विराजित मां दुर्गा का महादेव घाट स्थित विशेष कुंड में सोमवार सुबह से विसर्जन का सिलसिला शुरु हो गया। इस दौरान रंग गुलाल से रचे बसे देवी भक्तों के जयकारों से विसर्जन स्थल सराबोर रहा। राजधानी की कई दुर्गा समितियां बाजे गाजे के साथ जहां विसर्जन स्थल पहुंचीं वहीं कई समितियों ने  दो से ज्यादा साउंड बॉक्स पर लगी पाबंदी और बैंड बाजा से जुड़ी गाइड लाइन के कारण जहां बैंड पार्टियों से दूरी बनाए रखी वहीं शहर की 40 में से बैंड पार्टियों की  दुर्गा विसर्जन में भागीदारी रही।

श्री सतबहनियां दुर्गोत्सव समिति आमापारा बगैर बाजे गाजे के साथ दुर्गा विसर्जन स्थल पहुंची। समिति के सदस्यों ने बताया कि बैंड बाजा पर लगी पाबंदी के कारण समिति ने सादगी पूर्ण ढंग से दुर्गा विसर्जन करने का फैसला लिया था। न्यू आजाद दुर्गोत्सव समिति अध्यक्ष दीपक जायसवाल ने बताया कि बैंड पार्टी पर लगी पाबंदी के कारण समिति ने बैंड पार्टी बुक नहीं किया था।  जसगीत के बीच  विसर्जन स्थल पहुंच कर मां दुर्गा का विसर्जन किया जाएगा।

श्री आदिशक्ति दुर्गोत्सव समिति आमापारा के सदस्यों ने बताया कि अब तक उन्होंने बैंड पार्टी को बुक नहीं किया था लेकिन बैंड पार्टी पर लगी पाबंदी के हटने के कारण समिति बैंड पार्टी की पड़ताल कर रही है। आर्दश नवदुर्गा समिति के दीपक ने बताया कि समिति चाहती है कि बाजे गाजे के साथ दुर्गा विसर्जन किया जाए लेकिन बैंड पार्टियों ने रेट बढ़ा दिए हैं इस कारण से दिक्कत आ रही है।

धुमाल जन कल्याण संघ के अध्यक्ष गौतम महानंद ने बताया कि ऐन समय पर बैंड पार्टियों पर लगे प्रतिबंध को हटाने से बैंड पार्टियों को काम तो मिला लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने शासन द्वारा जारी किए गए गाइड लाइन के कारण काम नहीं लिया। पंडरी, गंज थाना से बैंड पार्टी को अनुमति नहीं मिली। रामनगर और गुढियारी में अनुमति दी गई थी। गाइड लाइन के नियमों के कारण शहर की 40 में से 15 ही पार्टियों को ही काम मिल पाया।

अन्य पोस्ट

Comments