गरियाबंद

देवभोग, ग्राम सभा में आय-व्यय की नहीं दी जानकारी, ग्रामीणों ने किया बहिष्कार
देवभोग, ग्राम सभा में आय-व्यय की नहीं दी जानकारी, ग्रामीणों ने किया बहिष्कार
Date : 06-Oct-2019

ग्राम सभा में आय-व्यय की नहीं दी जानकारी, ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 6  अक्टूबर।
पंचायत में आयोजित ग्राम सभा बैठक में आय-व्यव  की जानकारी नहीं देने से ग्रामीण नाराज होकर बैठक से निकल गए। नियमानुसार पेंशन, मनरेगा ,स्वच्छता, प्लास्टिक मुक्त, आय-व्यव सहित अन्य 25 बिंदुओं पर ग्रामीणों को जानकारी दी जानी थी, लेकिन ग्राम पंचायत सचिव पर सुपोषण योजना और पुल-पुलिया प्रस्ताव कर खानापूर्ति कर बैठक खत्म करने का आरोप ग्रामीणों द्वारा लगाया जा रहा है। 

ग्राम पंचायत खजूरपदर के आश्रित ग्राम में शुक्रवार को शासन के निर्देशानुसार ग्राम सभा बैठक आयोजन किया गया। जिसमें नीलांबर प्रधान सहित अन्य ग्रामीणों ने 14 वें वित्त मद और मूलभूत मद से कितनी राशि शासन से प्राप्त हुई और कहां-कहां खर्च की गई, की जानकारी मांगी गई।ताकि नाली निर्माण तालाब सफाई एवं जरूरत के अनुसार कार्य योजना बनाया जा सके, लेकिन ग्राम पंचायत सचिव विनोद बिहारी ने जानकारी देने से इंकार कर दिया। जिस पर आधा से ज्यादा ग्रामीणों ने ग्राम सभा का बहिष्कार करते हुए बैठक से निकल गए, जबकि मौजूद ग्रामीणों को भी 25 बिंदुओं की पूरी जानकारी नहीं दी गई। करीब एक घंटा की खानापूर्ति ग्राम सभा बैठक आयोजित कर सचिव ने बैठक खत्म कर दी। 

दोबारा ग्राम सभा बैठक की मांग
ग्रामीणों का कहना है ग्राम सभा बैठक के दौरान पारदर्शिता के साथ जानकारी नहीं दी गई, ना ही मजदूरों को मजदूरी दिलाने की बात हुई और ना पेंशन धारियों को पेंशन की जानकारी मिल पाई। जिसके कारण ग्रामीणों द्वारा दोबारा ग्राम सभा बैठक आयोजन कराने के लिए सीईओ को मांग करेंगे साथ ही आय -व्यव के रिकार्ड अनुसार जानकारी देने के लिए कहा जाएगा।

पहले भी शिकायत हुई, कार्रवाई नहीं 
ग्रामीणों ने बीते वर्ष 14वें वित्त और मूलभूत मद की राशि को सचिव सरपंच द्वारा गबन करने की शिकायत एसडीएम से की थी। जिस पर एसडीएम ने मैनपुर सीईओ को जांच करने के आदेश दिए थे। जांच के दौरान 72 लाख राशि को इधर-उधर खर्च करने की बात सामने आई जिनमें लाखों रुपए बैंक से नगद निकाल कर गबन करने की पुष्टि भी की गई थी। जिसके आधार पर एसडीएम निर्भर साहू ने 21 दिन पहले नोटिस जारी कर सप्ताह भर के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के लिए कहा था, लेकिन अब तक नोटिस का जवाब नहीं दिया गया बावजूद इसके ग्राम पंचायत सचिव पर कार्रवाईनहीं की जा रही है।

नरसिंह धु्रव सीईओ मैनपुर ने बताया कि अगर पंचायत में ग्राम सभा बैठक आयोजन के दौरान हाईवे की जानकारी नहीं दी गई है तो संबंधित सचिव के खिलाफ नोटिस जारी किया जाएगा। साथ ही दोबारा ग्राम सभा करने के लिए भी कहा जाएगा।

विनोद बिहारी ग्राम पंचायत खजूरपदर सचिव का कहना है कि ग्राम सभा में 15 लोग थे। सभा में आय-व्यय की जानकारी नहीं दिए जााने पर आधे लोग निकल गए।

Related Post

Comments