धमतरी

धमतरी, राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह में प्रभारी मंत्री फहराएंगे तिरंगा
धमतरी, राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह में प्रभारी मंत्री फहराएंगे तिरंगा
Date : 09-Aug-2019

राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह में प्रभारी मंत्री फहराएंगे तिरंगा
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
धमतरी, 9 अगस्त।
राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त को जिला स्तर पर आयोजित मुख्य समारोह में केबिनेट और जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा के द्वारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाएगा। मुख्य समारोह का आयोजन स्थानीय डॉ. शोभाराम देवांगन शासकीय उमावि एकलव्य खेल परिसर में सुबह 9 बजे तिरंगा ध्वज फहराया जाएगा। 

लखमा सुबह 9 बजे परेड ग्राउंड पहुंचेंगे, जिसके तुरंत बाद राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। सुबह 9.02 बजे राष्ट्रगान तथा 9 बजकर 5 मिनट पर उनके द्वारा परेड का निरीक्षण किया जाएगा। सुबह 9.15 बजे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का संदेश वाचन किया जाएगा। 9.30 बजे हर्ष फायर व 9 बजकर 35 मिनट पर आसमान में गुब्बारे छोड़े जाएंगे। सुबह 9.40 बजे जवानों द्वारा मार्चपास्ट कर मुख्य अतिथि को सलामी दी जाएगी। इसके उपरांत स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के परिजनों का सम्मान सुबह 10.00 बजे किया जाएगा। 10.10 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा तथा कार्यक्रम के अंत में 10.45 बजे पुरस्कार वितरण और सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। 

स्वतंत्रता दिवस के लिए अंतिम पूर्वाभ्यास 13 को
जिला स्तर पर आयोजित होने वाले मुख्य समारोह के पूर्व अंतिम पूर्वाभ्यास का आयोजन 13 अगस्त को किया जाएगा। सम्पूर्ण कार्यक्रम की मिनट-टू-मिनट गतिविधियों का अंतिम पूर्वाभ्यास मुख्य समारोह स्थल स्थानीय डॉ. शोभाराम देवांगन शासकीय उमावि एकलव्य खेल परिसर में सुबह 8 बजे से किया जाएगा। कलेक्टर रजत बंसल ने सभी संबंधित अधिकारियों को अंतिम पूर्वाभ्यास के दौरान अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं। 

शासकीय भवनों में रोशनी करने के निर्देश 
15 अगस्त को सभी शासकीय एवं सार्वजनिक भवनों में राष्ट्रीय ध्वज फहराए जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। सामान्य प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ शासन के अवर सचिव ने पत्र लिखकर शासकीय भवनों में रात्रि में रोशनी करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही इस तिथि को सुबह ध्वजारोहण करने, सामूहिक रूप से राष्ट्रगान गाने, शिक्षण संस्थाओं में सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेलकूद, वृक्षारोपण तथा प्रभातफेरी करने तथा मुख्य कार्यक्रम में परेड आयोजित करने व नक्सली हिंसा में शहीद हुए जवानों के परिजनों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को आमंत्रित कर उन्हें सम्मानित करने के भी निर्देश जारी किए गए हैं। 

Related Post

Comments