कोण्डागांव

रोजगार की तलाश में राजस्थान गए युवक की दुर्घटना से मौत
22-Sep-2021 8:37 PM (77)
  रोजगार की तलाश में राजस्थान गए युवक की दुर्घटना से मौत

  परिजनों ने पुलिस से लगाई गुहार, एम्बुलेंस से शव से लाया केशकाल   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

केशकाल, 22 सितंबर। पुलिस का नाम जुबान पर आते ही तमाम तरह की नकारात्मक अथवा सकारात्मक छवि उभरकर आपके सामने आती होंगी। हालांकि इन सब के परे पुलिस का एक चेहरा ये भी है।

केशकाल पुलिस ने इंसानियत की मिसाल पेश की है। उल्लेखनीय है कि ग्रेनाइट माइंस फैक्ट्री में मजदूरी का काम करने राजस्थान गए अड़ेंगा निवासी युवक की सडक़ दुर्घटना में मौत होने की जानकारी मिलने पर मृतक के परिजनों की कमजोर आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए थाना प्रभारी भीमसेन यादव ने तत्काल सम्बंधित फैक्ट्री के मालिक एवं स्थानीय पुलिस से संपर्क कर के शव को एम्बुलेंस के माध्यम से राजस्थान से केशकाल मंगवा कर परिजनों को सुरक्षित सुपुर्द कर दिया है। वहीं मृतक के परिजनों ने भी इस अमूल्य सहायता के लिए केशकाल पुलिस को धन्यवाद दिया है।

 ज्ञात हो कि केशकाल थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अड़ेंगा के खासपारा निवासी युवक हेमराज ध्रुव पिता बसंत उम्र 28 वर्ष जो कि लगभग 4-5 वर्ष पहले रोजगार की तलाश में राजस्थान गया हुआ था। जहां वह जालोर शहर में स्थित ग्रेनाइट माइंस फैक्ट्री में काम करने लगा था। दिनाँक 19 सितम्बर को वह किसी काम से शहर की ओर गया हुआ था। जहां किसी अज्ञात वाहन के साथ हुई भिड़ंत में वह गम्भीर रूप से घायल हो गया था। उसे आसपास के लोगों ने अस्पताल पहुंचाया था जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को मिली तो उन्होंने मृतक की पाकिट में मिले आधार कार्ड के माध्यम से पतासाजी कर केशकाल पुलिस से सम्पर्क कर के घटना की सूचना दी। ततपश्चात केशकाल थाना प्रभारी ने ग्राम अड़ेंगा के सरपंच-उपसरपंच से सम्पर्क कर के उन्हें मृतक के संबंध में जानकारी दी।

इस संबंध में मृतक के भाई गोपाल ध्रुव ने बताया कि केशकाल पुलिस से हमें जानकारी मिली कि हमारे भाई हेमराज की सडक़ दुर्घटना में मौत हो गयी है। चूंकि हमारी आर्थिक स्थिति इतनी मजबूत नहीं है कि हम राजस्थान जाकर शव को अपने गांव ला सकें, इसलिए हमने केशकाल पुलिस से निवेदन किया था कि वह किसी तरह से शव को केशकाल मंगवा लें।

मृतक के परिजनों की स्थिति को देखते हुए थाना प्रभारी भीमसेन यादव ने थाना जालोर की पुलिस व उक्त ग्रेनाइट फैक्टरी के संचालक से सम्पर्क किया तथा उनसे शव को छत्तीसगढ़ भेजने का आग्रह किया। वहीं फैक्ट्री के संचालक ने भी संवेदनशीलता दिखाते हुए ग्रेनाइट असोसिएशन की ओर से एक निजी एम्बुलेंस के माध्यम से शव को केशकाल भेज दिया। एम्बुलेंस के चालक ने बताया कि वह 20 सितम्बर की दोपहर 2.30 बजे जालोर से रवाना हुए थे जो कि 21 सितंबर की रात 9 बजे केशकाल पहुंचे। जहां केशकाल पुलिस को जानकारी देने के पश्चात हमने ग्राम खासपारा जाकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

  गोपाल ने कहा कि हमारी कमजोर आर्थिक स्थिति को देख कर जिस प्रकार ने पुलिस ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए हमारे भाई के शव को राजस्थान से हमारे घर तक पहुंचवाया है इसके लिए मैं सभी घरवालों की ओर से केशकाल पुलिस को धन्यवाद देता हूँ। यदि पुलिस की मदद नही मिलती तो हमें भाई के शव वापस लाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता।

 मैं पूरे परिवार की ओर से केशकाल पुलिस की पूरी टीम को धन्यवाद देता हूं।

  थाना प्रभारी भीमसेन यादव ने बताया कि 19 सितंबर को हमें राजस्थान के जालोर थाना से सूचना मिली कि सडक़ दुर्घटना में एक युवक की मौत हो गयी है जिसका आधार कार्ड देखने पर मालूम हुआ कि वह आपके थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अड़ेंगा का निवासी हैं। हमने तत्काल स्थानीय जनप्रतिनिधियों से सम्पर्क कर के मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी दी। ततपश्चात उन्होंने अपनी आर्थिक स्थिति बताते हुए हमसे आग्रह किया कि शव को किसी तरह से मंगवा लिया जाए। मामले की गम्भीरता को समझते हुए हमने तत्काल जालोर थाना प्रभारी एवं माइंस फैक्ट्री के संचालक से सम्पर्क कर मृतक के शव को उनके गांव भेज कर परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। असहाय एवं अक्षम लोगों की मदद के लिए केशकाल पुलिस सदैव तत्पर रहेगी।

अन्य पोस्ट

Comments