राष्ट्रीय

बड़ा खुलासा: गुजरात और कश्‍मीर में बेचे जाते थे Delhi-NCR से चोरी होने वाली कार, यहां बदले जाते थे इंजन और चेसिस नंबर
22-Jun-2021 11:07 AM (85)
बड़ा खुलासा: गुजरात और कश्‍मीर में बेचे जाते थे Delhi-NCR से चोरी होने वाली कार, यहां बदले जाते थे इंजन और चेसिस नंबर

नोएडा. हाल ही में नोएडा पुलिस ने दिल्ली-एनसीआर से कार चुराने वाले एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग चोरी की कारों को गुजरात और कश्मीर में बेचता था. कार को बाहर भेजने से पहले उसके इंजन और चेसिस नंबर बदले जाते थे. इसके लिए गैंग ने उत्तराखंड में ठिकाना बना रखा था. गैंग के लोग चोरी करने के बाद कार पर प्रेस और भारत सरकार के स्टीकर लगा देते थे. 4 लाख में फॉर्च्यूनर तो डेढ़ लाख रुपये में डस्टर और होंडा सिटी कार बेचते थे. बीते एक साल से इस गैंग के लोग नोएडा में पीजी में रह रहे थे.

उत्तराखंड के काशीपुर का रहने वाला रियाज चोरी की कारों के इंजन और चेसिस नंबर बदलता था. रियाज इस काम का एक्सपर्ट बताया जा रहा है. दिल्ली-एनसीआर से चोरी कर कार को सीधे काशीपुर भेज दिया जाता था. यहां पर रियाज बड़ी ही सफाई से कार के इंजन और चेसिस नंबर बदल देता था. पुराने नंबर को मिटाकर उसकी जगह नया नंबर लिख देता था.

कश्मीर-गुजरात में बेच चुके हैं नोएडा से चुराई 50 कार
पुलिस की मानें तो गैंग के पकड़े गए लुटेरों ने कुबूल किया है कि वो अभी तक 100 से ज्यादा कार चोरी कर चुके हैं. इनमें से अकेले नोएडा से ही 50 कारें चोरी की हैं. चोरी की गई सभी कार को गैंग कश्मीर और गुजरात में बेच चुके हैं.

पुलिस के मुताबिक यह गैंग चोरी की फॉर्च्यूनर कारों को 4 लाख रुपये, डस्टर और होण्डा सिटी को डेढ़ लाख, स्विफ्ट को एक लाख और इनोवा कार को दो लाख रुपये में बेचते थे. गैंग का सरगना असलम फिलहाल गाजीपुर जेल में बंद है.

खास बात यह है कि गैंग पुलिस से बचने के लिए इंटरनेट कॉलिंग का इस्तेमाल करता था. आपस में बात करने के लिए ये लोग कभी भी सिम कार्ड का इस्तेमाल नहीं करते थे. वहीं, गुजरात और कश्मीर में कार बेचने के बाद गैंग के सदस्य हवाई जहाज से वापस दिल्ली आ जाते थे. पुलिस ने गैंग से कारों को खरीदने वाले उनके कश्मीर और गुजरात के सदस्यों को भी हिरासत में ले लिया है. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments