छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous123Next
Posted Date : 11-Nov-2017
  • बढ़ती महंगाई विरोध में सड़क पर उतरीं 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 11 नवंबर। बढ़ती महंगाई के विरोध में महिला कांग्रेस की शहर अध्यक्ष हेमा देशमुख के नेतृत्व में शनिवार को साइकिल में गैस सिलेंडर लादकर सड़क में प्रदर्शन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम नायाब तहसीलदार श्री पटेल को ज्ञापन सौंपा। 
    महिला कांग्रेस ने रैली की शक्ल में कांग्रेस भवन से शुभारंभ करते जयस्तंभ चौक, मानव मंदिर चौक होते हुए गुडाखू लाइन, जूनीहटरी से वापस कांग्रेस भवन पहुंची। प्रदर्शन में महंगाई से आक्रोशित महिला कांग्रेसियों ने साइकिल में गैस सिलेंडर लादकर रैली निकालकर भाजपा सरकार को अच्छे दिन आने के झूठे वायदे को याद दिलाते महंगाई डायन मार जाएगी के नारे लगाए। 
     रैली के दौरान संध्या देशपांडे, जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुरेन्द्र दास वैष्णव, श्रीकिशन खंडेलवाल, झम्मन देवांगन, दिनेश शर्मा, शारदा तिवारी समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस व महिला कांग्रेस की कार्यकर्ता शामिल थी।

  •  

Posted Date : 09-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 9 नवंबर।  ट्रक के डिवाईडर से टकराने से ट्रक चालक और सहचालक की मौत हो गई। बताया गया है कि चालक की जहां मौके पर ही मौत हुई। वहीं सहचालक ने अस्पताल में दम तोड़ा।
     नागपुर से संतरा भरकर रायपुर  जा रही एक ट्रक सोमनी थाना के समीप एक डिवाईडर से टकरा गई। जिससे चालक सुरेश 35 वर्ष निवासी तारसा नागपुर की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। वहीं  सहचालक नीताराम को राजनांदगांव जिला अस्पताल में लाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। सहचालक मूल रूप से रायपुर का निवासी है। बताया गया है कि झपकी आने के चलते यह हादसा हुआ है

  •  

Posted Date : 31-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 31 अक्टूबर। आजाद भारत के पहले गृहमंत्री व लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मदिवस  पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन ने  आज एकता का संदेश देने  दौड़ लगाई। इससे पहले मुख्यमंत्री ने जयस्तंभ चौक में  एक सभा को संबोधित करते कहा कि सरदार पटेल की जंयती पर इस बार राजधानी रायपुर के बजाए नांदगांव में दौड़ लगाने के इरादे से यहां पहुंचे हैं।
    उन्होंने कहा कि सरदार पटेल का व्यक्तित्व ऊर्जा का प्रतीक है। आज पूरा देश उनके जंयती को एकता का संदेश देने के उद्धेश्य के साथ मना रहा है। मुख्यमंत्री ने दौड़ में शामिल होने आए वरिष्ठ नेता लीलाराम भोजवानी, खूबचंद पारख और अशोक शर्मा के उत्साह की तारीफ की। साथ ही जिला कोषाध्यक्ष सौरभ कोठारी के जन्मदिन पर उन्हें तरक्की व स्वस्थ रहने का आशीर्वाद दिया। मुख्यमंत्री ने बच्चों को पूरे अनुशासन और धीमी गति में दौडऩे की अपील की। मुख्यमंत्री जयस्तंभ चौक से मानव मंदिर तक धीमी दौड़ लगाते पहुंचे। सभा को सांसद अभिषेक सिंह ने भी संबोधित करते कहा कि आज हम राष्ट्र की एकता के लिए सद्भावना दौड़ के लिए एकत्र हुए हैं। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश सेवा के लिए जीवन को समर्पित किया। आज देश के प्रति गहरी भावना देखकर  वह काफी खुश हैं। 
    जैसे ही मुख्यमंत्री ने दौडऩे की शुरूआत की उनके पीछे लोगों का हुजुम उमड़ पड़ा। कार्यक्रम में  महापौर मधुसूदन यादव, जिलाध्यक्ष संतोष अग्रवाल, सचिन बघेल, पूर्व सांसद प्रदीप गांधी, पूर्व महापौर नरेश डाकलिया, पूर्व संसदीय सचिव कोमल जंघेल नीलू शर्मा, समाज कल्याण बोर्ड अध्यक्ष शोभा सोनी, अशोक चौधरी, पवन मेश्राम, भावेश बैद, कलेक्टर भीम सिंह, एसपी प्रशांत अग्रवाल, एएसपी राजेश अग्रवाल ,सीएसपी सचिनदेव शुक्ला , यातायात डीएसपी एमएस चंद्रा समेत अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
    पोहा के चखा जलेगी का स्वाद
    एकता का संदेश देने के लिए आज दौड़ में निकले  मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सुबह के नाश्ते में नांदगांव की प्रसिद्ध पोहा के साथ जलेबी का स्वाद चखा। 
    मुख्यमंत्री ने शहर के मानव मंदिर में वरिष्ठ नेताओं के साथ पोहा और जलेबी का लुत्फ उठाया। मुख्यमंत्री ने एक टेबल में बैठकर पार्टी नेताओं के साथ  नाश्ता किया। साथ बैठे नेताओं ने पुराने दिन को याद किया।  चर्चा में कई बार ठहाके भी लगे। मुख्यमंत्री ने नाश्ते को काफी पंसद किया।  

     

  •  

Posted Date : 26-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 26 अक्टूबर। अंबागढ़ चौकी के गांवों में रकम दुगुनी करने का झांसा देकर फर्जी चिटफंड कंपनी के एक जालसाज को क्राईम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी  भुनेश्वर गेड़ाम ने ओम सुख सांई कृपा लैंड डेव्लपर्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड कंपनी की आड़ में ग्रामीणों से लगभग 50 लाख रूपये उगाहे थे। इसके बाद वह 2013 से अचानक गायब हो गया।
    ग्रामीणों ने पुलिस में अपने साथ हुए धोखाधड़ी की शिकायत करते आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की थी।  आरोपी काफी समय से गांव से फरार था। हाल ही में वह गांव में आकर रहने लगा।  पुलिस का कहना है कि लोगों से रकम लेकर आरोपी ने अंबागढ़ चौकी क्षेत्र में भारी पैमाने पर जमीन की खरीदी की है। पुलिस का कहना है कि लोगों की रकम वापस दिलाने के लिए आरोपी की जमीन को कुर्क किया जाएगा। आरोपी के पास से बैंक पासबुक, एटीएम समेत अन्य बैंकिग संबंधी दस्तावेज मिले हंै।

     

  •  

Posted Date : 17-Oct-2017
  • नोएडा से आधा दर्जन गिरफ्तार
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 17 अक्टूबर। बीमा पॉलिसी के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह का राजनांदगांव पुलिस ने पर्दाफाश किया है। गिरोह अंतर्राज्यीय स्तर में पूरी चालाकी से लोगों को ठग रहा था। राजनांदगांव के  एक व्यक्ति से गिरोह ने करीब 24 लाख रुपए किस्तवार ऐंठ लिए। पीडि़त व्यक्ति की शिकायत के बाद मामले की पुलिस ने छानबीन शुरू की थी। 
    घटना की जानकारी देते एक पत्रकारवार्ता में एसपी प्रशांत अग्रवाल व एएसपी राजेश अग्रवाल ने बताया कि स्थानीय सृष्टि कालोनी निवासी मनीराम रामटेके से 16 जून 2016 को राकेश शर्मा नामक व्यक्ति ने फोन कर खुद को बीमा कंपनी का अधिकारी बताते बीमा की बचत राशि 52 लाख रुपए देने के एवज में प्रोसेसिंग शुल्क के रूप में अलग-अलग किस्तों में लगभग 24 लाख रुपए ऐंठ लिए। इसके बाद प्रार्थी ने पुलिस से शिकायत की। घटना की जांच के लिए अंबागढ़ चौकी एसडीओपी अभिषेक महेश्वरी के नेतृत्व में 10 सदस्यी टीम को दिल्ली रवाना किया गया। जिसमें कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस को पहली गिरफ्तारी के रूप में सुनील शर्मा हाथ लगा। बाद में आरोपी की निशानदेही पर दिल्ली और नोएडा जैसे सघन आबादी वाले क्षेत्र से सलमान, जावेद, दशरथ और आमिर को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद मुख्य आरोपी के संबंध में पुलिस को जानकारी मिली।  ठग गिरोह का सरगना आलोक उर्फ रणवीर पुलिस से बचते हुए दिल्ली से निकलकर आगरा जाकर छुप गया, जहां से उसे गिरफ्तार किया गया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपी आलोक ठगी की कमाई से एशो आराम से रह रहा था। वह ठगी से खरीदी हुई लक्जरी कार से भागने की कोशिश में था। पुलिस ने आरोपियों से 6 विभिन्न बैंकों के एटीएम कार्ड, 7 नग मोबाइल फोन और 15 हजार रुपए तथा एक सोने की चैन बरामद की है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों के सभी बैंक को सीज करा दिया गया है। वहीं जांच में आरोपियों ने करीब 5 करोड़ रुपए लोगों से ऐंठने की बात स्वीकार कर चुके हैं। इसमें एक आरोपी कॉल सेंटरों में भी काम कर चुका है। मामले की विवेचना चल रही है।

     

  •  

Posted Date : 13-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 13 अक्टूबर। अंजोर के एक कालोनी में बीती रात एक दिहाड़ी मजदूर  की अवैध संबंध के शक पर उसके साथी ने हत्या कर दी। घटना के बाद से आरोपी फरार है।
    मिली जानकारी के मुताबिक अंजोरा स्थित एक निजी कंपनी के कालोनी में रहने वाले  उमेश महतो 45 और आरोपी प्रफुल्ल कुजुर एक ही कंपनी में सहकर्मी थे। कल रात दोनों में  एक महिला के साथ  संबंध को लेकर विवाद हुआ। इसी बीच दोनों के बीच हाथापाई भी शुरू हो गई। इस दौरान  उमेश  की आरोपी प्रफुल्ल ने  बेदम पिटाई कर दी।  जिससे उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद से आरोपी फरार हो गया।  मृतक का परिवार मूल रूप से बिहार का रहने वाला है। मृतक की मौत की सूचना परिजनों को दे दी गई। 

     

  •  

Posted Date : 11-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 11 अक्टूबर। डोंगरगढ़ वन परिक्षेत्र के मुडपार के मुख्य मार्ग में बुधवार सुबह एक जंगली भालू मृत हालत में पाया गया। ग्रामीणों का कहना है कि भालू जंगल से भागते हुए गांव में स्थित एक पेड़ पर शहद खाने के लिए चढ़ा था। इसी दौरान वह गिरकर मर गया। बताया गया है कि ग्रामीणों की सूचना के बाद वन अमला मौके पर पहुंच गया है। वन अधिकारियों का कहना है कि भालू की उम्र अधिक होने के कारण वह कमजोर भी हो गया था।  जिसके चलते पेड़ से वह गिर गया।  

  •  

Posted Date : 09-Oct-2017
  • दो घंटों तक रही आवाजाही ठप्प, पुलिस भी पहुंची

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव,  9 अक्टूबर। शहर से सटे ढ़ाबा वार्ड में पेयजल की समस्या को लेकर ढ़ाबा वार्ड की महिलाओं समेत अन्य लोगों ने सोमवार को बर्तनों को सड़क में रखकर जमकर प्रदर्शन किया। वार्डवासियों ने तकरीबन दो घंटे तक सड़क में बैठकर पेयजल की समस्या से निजात को लेकर नारेबाजी भी करते रहे। 
    वार्डवासियों के प्रदर्शन से लगभग दो घंटे तक लोगों की आवाजाही बाधित रहने से लोगों को हलाकान होना पड़ा। वार्डवासियों द्वारा हंगामा करने की सूचना के बाद मौके पर पुलिस बल भी पहुंचकर स्थिति को सामान्य बनाने जुटी रही। इसके अलावा नगर निगम के सभापति शिव वर्मा भी मौके पर पहुंचकर वार्डवासियों को पेयजल की समस्या से निजात दिलाने का आश्वासन दिया गया, तब वार्डवासियों ने रास्ता को साफ किया। 
    बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में तकरीबन 4 साल से लोगों को पेयजल के अलावा निस्तारी के लिए पानी की समस्या आए दिन बनी रहती है। जिससे वार्ड की महिलाओं समेत पुरूषों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। वार्डवासियों का गुस्सा आज सोमवार को फूट पड़ा और चक्काजाम पर उतर आए। वार्डवासियों के चक्काजाम करने से इस मार्ग से आने-जाने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वार्डवासियों ने निगम सभापति के समझाईश के बाद रास्ता छोड़ा, तब आवागमन सामान्य हुई। वहीं वार्डवासियों को टैंकर के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराया गया। 

  •  

Posted Date : 06-Oct-2017
  • डोंगरगढ़/ राजनांदगांव, 6 अक्टूबर। बोनस तिहार कार्यक्रम में शुक्रवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने डोंगरगढ़  में आयोजित एक बड़े जनसभा को संबोधित करते हुए राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का जमकर बखान किया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं का लाभ लेने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 तक प्रदेश में कोई भी व्यक्ति बिना मकान का नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से गरीब तबके को एक छत मिलना तय है। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि बोनस के जरिए किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जीरो प्रतिशत ब्याज पर सरकार किसानों को ऋण दे रही हे। प्रदेश में उज्जवला गैस योजना से घरों में धुंआ रहित चूल्हे जल रहे हैं। उन्होंने सरकार की अलग-अलग योजनाओं के संबंध में भी उपस्थित जनसमुदाय को जानकारी दी। इससे पहले स्थानीय स्टेडियम स्थित कार्यक्रम में जिलेभर के सैकड़ों किसान सरकार के हाथों मिलने वाले बोनस प्राप्त करने के लिए पहुंचे। 
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शुक्रवार को बोनस तिहार के अवसर पर इलेक्ट्रानिक तरीके से एक किसान के खाते में बोनस की राशि ट्रांसफर किया। इसके पश्चात धान समिति में धान विपणन करने वाले सभी किसानों के खाते में बोनस राशि ट्रांसफर हो गई। इसके साथ ही जिले के एक लाख 15 हजार 373 किसानों के खाते में 300 रुपए प्रति च्ंिटल की दर से एक अरब 55 करोड़ 34 लाख रुपए का बोनस ट्रांसफर हुआ। कार्यक्रम के दौरान डोंगरगढ़ एवं खैरागढ़ विकासखंड में 23 करोड़ 19 लाख रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन भी हुआ। इनमें 5 करोड़ 7 लाख रुपए के लोकार्पण कार्यक्रम एवं 18 करोड़ 11 लाख रुपए के भूमिपूजन शामिल है। इस मौके पर प्रभारी मंत्री राजेश मूणत एवं सांसद अभिषेक सिंह भी उपस्थित थे। 
    इस अवसर पर मुख्यमंत्री खैरागढ़ विकासखंड के भैंसातरा में 1 करोड़ 64 लाख रुपए की लागत में निर्मित 33/11 एमवीए केंद्र का लोकार्पण,   46.91 लाख रुपए की लागत से मुड़पार नलजल योजना, 39.35 लाख की लागत से भंडारपुर नलजल योजना,  20.57 लाख  की लागत से पिनकापार नलजल योजना सहित अन्य विकास कार्यों का भी लोकार्पण किया।
    कार्यक्रम में प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन, पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत, सांसद अभिषेक सिंह, विधायक प्रतिनिधि लीलाराम भोजवानी, बीस सूत्रीय क्रि.समिति उपाध्यक्ष खुबचंद पारख, विधायक सरोजनी बंजारे, राज्य अनुसूचित जाति आयोग अध्यक्ष रामजी भारती, छग वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन अध्यक्ष नीलू शर्मा, जिलाध्यक्ष संतोष अग्रवाल, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक अध्यक्ष सचिन बघेल, पूर्व विधायकद्वय कोमल जंघेल, विनोद खांडेकर, छग समाज कल्याण बोर्ड अध्यक्ष शोभा सोनी, छग अंत्यावसायी वित्त विकास निगम सदस्य  पवन मेश्राम समेत अन्य उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 05-Oct-2017
  • एसीबी ने एसडीएम को भी आरोपी बनाया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव-डोंगरगढ़, 5 अक्टूबर। जिले के डोंगरगढ़ एसडीएम कार्यालय में गुरुवार को एंटी करप्शन ब्यूरो ने एसडीएम आरबी देवांगन के लिपिक  आरिफ खान को रंगे हाथ 11 हजार रुपये  रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। एंटी करप्शन ब्यूरो की कार्रवाई के बाद बयान में लिपिक ने एसडीएम देवांगन के आदेशानुसार घुस लेने की बात स्वीकार की है। एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस मामले में एसडीएम देवांगन तथा लिपिक पर कार्रवाई करने की बात कही है।
    मिली जानकारी के मुताबिक उरईडबरी के मनीष ठाकुर से कथित तौर पर एसडीएम देवांगन ने साल्वेंसी बनाने के नाम पर 20 हजार रुपये की मांग की थी।  बताया गया है कि लेनदेन में लिपिक आरिफ खान की मुख्य भूमिका थी। 11 हजार रुपये में साल्वेंसी बनाने की सहमति बनी। 
     इधर लिपिक ने एसडीएम के कहने पर रुपये लेने का दावा किया है। एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस मामले में एसडीएम को भी आरोपी बनाया है। दो राजपत्रित अधिकारियों की मौजूदगी में एसीबी के दर्जनभर अधिकारियों ने यह कार्रवाई की। जिसमें डीएसपी परिहार समेत निरीक्षक व अन्य कर्मचारी शामिल हैं। यह पहला मौका है जब राजनांदगांव में एसीबी ने सीधे तौर पर किसी राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी के दफ्तर में जाकर कार्रवाई की है।  

  •  

Posted Date : 29-Sep-2017

  • प्रदेशवासियों की खुशहाली और समृद्धि का मांगा आशीर्वाद
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 29 सितंबर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह क्वांर नवरात्रि  के अवसर पर गुरुवार को धर्मपत्नी वीणा सिंह, सुपुत्र सांसद अभिषेक सिंह एवं सुपुत्री डॉ. स्मिता के साथ डोंगरगढ़ पहुंचकर आदि-शक्ति मां बम्लेश्वरी के दर्शन कर विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। उन्होंने प्रदेश की जनता की सुख-समृद्धि एवं तरक्की और खुशहाली के लिए आशीर्वाद मांगा। 
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने देवी दर्शन के बाद ऊपर मंदिर परिसर में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों से क्वांर नवरात्रि में आयोजित विशाल मेले की व्यवस्थाएं, मंदिर परिसर और क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने दर्शनार्थियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सत्कार के लिए समाजसेवी संस्थाओं, मां बम्लेश्वरी ट्रस्ट एवं जिला प्रशासन द्वारा किए गए इंतजामों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी लोगों को नवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होनें मंदिर परिसर में गणमान्य नागरिकों और श्रद्धालुओं से भी बातचीत की।
    डॉ. सिंह ने कहा कि मां बम्लेश्वरी  की कृपा से छत्तीसगढ़  राज्य तेजी से तरक्की कर रहा है। हर वर्ष छत्तीसगढ़ की जनता की खुशहाली के लिए माता के दरबार में प्रार्थना करता हंू। मुख्यमंत्री  ने कहा कि राज्य सरकार किसानों को राहत देने हर संभव प्रयास कर रही है। किसानों को धान पर बोनस देने का निर्णय भी सरकार ने लिया है। 
    इसके लिए हर जिले में बोनस तिहार का आयोजन भी किया जा रहा है। इसके साथ ही केन्द्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी प्रारंभ की है। फसल के नुकसान होने पर अनावरी रिपोर्ट के आधार पर किसानों को बीमा का लाभ मिल सकेगा। इसके अलावा राजस्व परिपत्र 6-4 के अंतर्गत मुआवजा भी फसल क्षति पर दिया जाता है। इन योजनाओं के किसान भाईयों को राहत मिलेगी। 
    उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास एवं उज्ज्वला योजना के माध्यम से बीपीएल लोगों को आवास तथा रसोई गैस जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। सामाजिक विकास की योजनाओं के लिए बड़ी राशि सरकार ने आरक्षित की है। इससे समाज का एक बड़ा तबका मुख्य धारा में शामिल हो रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में स्वास्थ्य बीमा के माध्यम से राज्य के सभी नागरिकों को स्मार्ट कार्ड के माध्यम से ईलाज की सुविधा प्रदान की गई है। श्रमिकों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। चाहे मेघावी श्रमिक बच्चों की छात्रवृत्ति हो अथवा श्रमिक परिवार में होने वाले विवाह के लिए दी जाने वाली राशि हो। जीवन के हर चरण में सहयोग करने श्रम विभाग की योजनाएं हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में उद्यमशीलता को बढ़ाने के लिए मुद्रा योजना, स्टॉर्टअप, स्टैण्डअप जैसी योजनाएं आरंभ की है। बड़ी संख्या में युवाओं का आगे आकर इन योजनाओं में हिस्सा लेने से युवाओं की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा मिली है, इससे प्रदेश के विकास को गति मिली है।
    सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि मां बम्लेश्वरी की असीम कृपा से प्रदेश तरक्की के रास्ते में बढ़ रहा है। आम जनता की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाई गई शासन की योजनाओं के जमीनी स्तर पर प्रभावी क्रियान्वयन से प्रदेश की सूरत बदली है। केन्द्र शासन एवं राज्य शासन ने ऐसी योजनाएं तैयार की है जिनसे प्राकृतिक आपदाओं में फसल क्षति जैसी समस्याओं से किसानों को राहत मिले, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इसमें सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ शासन ने धान बोनस देने का निर्णय लिया है। आगामी रबी फसल की बेहतरी के लिए भी कृषि विभाग का अमला किसानों के साथ मिलकर काम कर रहा है। 
    इस अवसर पर राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामजी भारती, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष रमेश पटेल, पूर्व विधायक विनोद खांडेकर, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भरत वर्मा, जनपद अध्यक्ष किरण साहू, कलेक्टर भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, एएसपी प्रफुल ठाकुर, एसडीएम आरबी देवांगन सहित जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

     

  •  

Posted Date : 29-Sep-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 29 सितंबर। जिले के खैरागढ़ क्षेत्र के शिकारीटोला गांव के महिला-बच्चे रतनजोत खाकर  बीमार हो गए। बीती रात लगभग 10 बजे के आसपास  सभी को गंभीर हालत में स्थानीय मेडिकल कॉलेज सह-अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया गया है कि गांव में कल अष्टमी हवन के दौरान खेलते हुए बच्चों ने न सिर्फ रतनजोत को खाया, बल्कि घर भी ले गए, जिसे महिलाओं ने भी  खा लिया था। 
    मिली जानकारी के मुताबिक 10 महिलाओं समेत  29 बच्चों की कल गांव में तबियत बिगड़ गई। बताया गया है कि रतनजोत खाने से ही सभी को उल्टियां होने लगी। इस बीच रात 10 बजे के आसपास किसी तरह सभी को अस्पताल लाया गया। अस्पताल में पदस्थ शिशु रोग चिकित्सक डॉ. माधुरी खूंटे ने फौरन  उपचार शुरू किया। वहीं महिलाओं को भी तत्काल इलाज मुहैया कराई गई। जिससे सभी की स्थिति सामान्य हो गई। उधर बीमार महिलाओं-बच्चों को देखने के लिए आज सुबह कलेक्टर भीम सिंह, मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने भी अस्पताल का दौरा किया। आज सुबह सभी को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। इस संबंध में शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ.  श्रीमती खूंटे ने बताया कि सभी के सेहत में सुधार होने के बाद घर भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि भूलवश बच्चों और महिलाओं ने रतनजोत का सेवन कर लिया था। 

  •  

Posted Date : 29-Sep-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 29 सितंबर। शहर के मोहारा वार्ड में एक पिता ने बीती रात घरेलू विवाद से तंग आकर  अपनी संतान की हत्या कर दी। इस घटना के बाद मोहल्ले में सनसनी फैल गई। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि मृतक रोजाना शराब के नशे में घर में वाद-विवाद करता था। साथ ही रोजाना पिता की पिटाई भी करता था।
     बसंतपुर थाना प्रभारी विनोद मंडावी ने  बताया कि मृतक सुरेन्द्र उर्फ मुन्ना रोजाना शराब पीकर घरवालों को परेशान करता था। विरोध करने पर वह मारपीट भी करता था। पिछले कुछ दिनों से वह अपने पिता गोपीराम निर्मलकर को सरेआम पीटने भी लगा था। इस वजह से मोहल्ले में  मृतक के खिलाफ आक्रोश भी था। 
    कल नशे में धुत होकर जब सुरेन्द्र घर आया तो पिता ने उसके रवैये पर आपत्ति की। इस को लेकर उसने पिता के साथ हाथापाई पर उतर आया।  इससे नाराज पिता ने कुल्हाड़ी से वार कर दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।आरोपी पिता को पुलिस ने घटना के कुछ घंटों के भीतर हिरासत में ले लिया है।  

     

  •  

Posted Date : 29-Sep-2017
  • याचिकाकर्ताओं से सुप्रीम कोर्ट ने माह भर में मांगा जबाव
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 29 सितंबर। सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ में सन् 2003 में पीएससी चयन में हुई अनियमितताओं एवं गड़बड़ी को लेकर दायर याचिका पर संबंधित पक्षकारों को एक माह के भीतर जवाब देने के लिए नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के द्वारा दिए गए फैसले पर रोक भी लगाई है। मिली जानकारी के मुताबिक भर्ती में चयनित उम्मीदवारों को उच्चतम न्यायालय ने माहभर के अंदर अपना पक्ष रखने को कहा है। साथ ही याचिकाकर्ता  रविन्द्र सिंह, चमन सिन्हा तथा वर्षा डोंगरे को भी उनका पक्ष रखने का निर्देश दिया है। 
    मिली जानकारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट द्वारा याचिकाकर्ताओं के पक्ष में फैसला दिया गया था। जिसमें हाईकोर्ट ने चयन प्रक्रिया में अपनाई गई नीति में खामियां के आधार पर सुधार करने को कहा था। हाईकोर्ट के इस फैसले को पक्षकारों ने उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी थी। इसके बाद इसकी सुनवाई  शुरू हुई। सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने एक माह का पक्षकार-याचिकाकर्ताओं को अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस दिया है। 
    इस संबंध में याचिकाकर्ता रविन्द्र सिंह ने 'छत्तीसगढ़Ó को बताया कि सुप्रीम कोर्ट से जारी नोटिस मिल गया है। वह जल्द ही इसका जवाब देंगे। बताया गया है कि दो अन्य याचिकाकर्ता चमन सिन्हा व वर्षा डोंगरे को भी  सुप्रीम कोर्ट का नोटिस मिल गया है। मिली जानकारी के मुताबिक रविन्द्र सिंह स्वयं सुप्रीम कोर्ट में अपनी  पैरवी करेंगे।

  •  

Posted Date : 27-Sep-2017
  • मिलने मची रही होड़, भारी स्वागत भी
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 27 सितंबर। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पुरानी करीबी नेताओं से मिलते-मिलाते कल देर शाम को वापस राजधानी रायपुर लौट गए। उनके दौरे में ध्यान देने वाली बात यह भी रही कि वह पहली बार अपनी धर्मपत्नी अमृता सिंह के साथ पहुंचे। राजनांदगांव पहुंचने के बाद पूर्व सीएम ने कुछ पुराने नेताओं के सेहत को लेकर जानकारी लेते उनसे मिलने की इच्छा जताई। 
    बताया जाता हैं कि श्री सिंह ने पूर्व जिलाध्यक्ष आर पाशा खुशी से मिलने की इच्छा जाहिर की। श्री सिंह ने डोंगरगढ़ से वापसी के दौरान शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार से श्री खुशी से मिलने घर जाने की बात जाहिर की। लेकिन आर पाशा खुशी के बिलासपुर में होने की वजह से पूर्व सीएम ने उनसे फोन पर चर्चा कर हालचाल पूछा। इस दौरान श्री सिंह पूर्व विधायक स्व. उदय मुदलियार की प्रतिमा में पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। बाद में वह काफी समय तक शहर अध्यक्ष मुदलियार के निवास में जाकर परिजनों से भेंट की। 
    बताया जाता है कि परिवार से मिलते वक्त श्री सिंह भावुक हो गए। गौरतलब है कि कांग्रेस की राजनीति में श्री सिंह स्व. मुदलियार के गुरू माने जाते रहे हंै। साथ ही छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद भी दिग्विजय का मुदलियार परिवार के साथ सौहाद्रपूर्ण रिश्ते कायम रहा है। इधर श्री सिंह ने डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी के दर्शन के पश्चात पूर्व विधायक स्व. हीराराम वर्मा के निवास में गए। वहां उन्होंने स्व. वर्मा के परिवार के सदस्यों से सौजन्य मुलाकात की। 
    तत्पश्चात उन्होंने डोंगरगढ़ के प्रतिष्ठित गट्टानी परिवार में जाकर मुलाकात की। परिवार के अनिल गट्टानी ने श्री सिंह का आत्मीय अभिनंदन किया। यहां बता दें कि उक्त निवास स्व. प्रकाशचंद गट्टानी का है जहां अरसे से श्री सिंह अपने प्रवास के दौरान आना नहीं भूले।
    लिहाजा कल अपने दौरे में श्री सिंह ने पुराने करीबियों से मिलकर जहां संबंधों को लेकर अपनी उदारता दिखाई वहीं मेल-मुलाकात के बहाने उन्होंने पुराने दिनों को याद कर माहौल को खुशनुमा बना दिया। श्री सिंह ने इस दौरान कुछ और नेताओं का प्रत्यक्ष मुलाकात के दौरान हाल पूछा। राजनीतिक रूप से श्री सिंह ने आपसी संबंधों को सहेज कर चलने का एक तरह से लोगों को महत्व भी बताया।
    जोशीले स्वागत से अभिभूत हुए दिग्गी
    लंबे समय बाद राजनांदगांव आए पूर्व मुख्यमंत्री  श्री सिंह का कल पार्टी कार्यकर्ताओं ने जोशीला  स्वागत किया। श्री सिंह भी  स्वागत से अभिभूत हो गए। बताया जाता है कि श्री सिंह से मिलने के लिए कार्यकर्ताओं का तांता लगा रहा।  जैसे ही श्री सिंह की पत्नी के साथ होने की जानकारी लगी वैसे ही कार्यकर्ताओं ने उनका (अमृता सिंह)का भी स्वागत किया। श्री सिंह ने परपंरागत रूप से पार्री दरगाह में चादर पेश किया। बाद में वे कांग्रेस भवन भी गए, जहां पर कार्यकर्ताओं ने पूरे जोश के साथ उनका अभिनंदन व स्वागत किया।
     मोदी-रमन सरकार भ्रष्ट-दिग्गी
    अपने प्रवास में कुछ पत्रकारों से चर्चा में श्री सिंह ने कहा कि भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार को लेकर बन रहे रिकार्ड को लेकर दोनों सरकारों की खिंचाई की। श्री सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार के छत्तीसगढ़ में रोज नए मामले सामने आ रहे हंै लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है। श्री सिंह ने दावा करते कहा कि प्रदेश में बदलाव की बयार बह रही है जिससे यह तय है कि राज्य में अगली सरकार कांग्रेस की होगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि रमन सरकार को अब किस आधार पर नंबर दें यह कहना मुश्किल है क्योंकि राज्य सरकार चावल, धान एवं पीडीएस सिस्टम में भ्रष्टाचार से घिरी है। श्री सिंह ने कांग्रेस में गुटबाजी को लेकर फिर से इंकार करते कहा कि पार्टी एक परिवार की तरह है। मामूली मतभेद को गुटबाजी नहीं कहा जा सकता।

  •  

Posted Date : 25-Sep-2017
  • शिक्षक के गाली देने से मचा बवाल
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 25 सितंबर। कन्हारपुरी हाईस्कूल में आज सुबह  प्राचार्य मुकुल साव को हटाने की मांग करते हुए सड़क पर उतर आईं। संस्था प्रमुख पर विद्यार्थियों ने लापरवाह होने के अलावा अनियमित रूप से शाला से गायब रहने का आरोप लगाया। आंदोलन के दौरान एक व्याख्याता के द्वारा छात्राओं को लेकर अपशब्द किए जाने से स्थिति कुछ देर तक तनावपूर्ण हो गया।  
    मिली जानकारी के अनुसार व्याख्याता मिलिंद मुदलियार ने विद्यार्थियों को आंदोलन समाप्त कर कक्षा में जाने के लिए दबाव बनाया जब विद्यार्थियों ने उनकी बात नहीं सुनी तो उन्होंने छात्राओं को गाली दे दी। इसको लेकर आंदोलन का समर्थन कर रहे पालक व्याख्याता को मारने पर उतारू हो गए।  पुलिस की दखल के बाद लोग नरम पड़े। 
    इससे पहले गांव में विद्यार्थियों ने रैली निकालकर प्राचार्य मुकुल साव को तत्काल हटाने की मांग की। छात्राओं का आरोप है कि प्राचार्य और शिक्षकों की लापरवाही की वजह से विद्यार्थी भी कक्षा से गायब रहते हैं। वही संस्था प्रमुख द्वारा विद्यार्थियों को जाति प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया है  छात्रवृत्ति  भी रोका  गया है। 
    छात्राओं का आरोप है कि संस्था में किसी भी संकाय की पढ़ाई पूरी नहीं हो रही है। छात्राओं ने बताया कि पूर्व में भी शिक्षण संस्था में व्याप्त समस्या को लेकर आंदोलन किया गया था जिसमें कुछ परिजनों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करा दी गई। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी एसके भारद्वाज ने 'छत्तीसगढ़' से चर्चा में कहा कि वह स्वयं घटनास्थल में जा रहे हंै। वहां की स्थिति को देखने के बाद ही कुछ बताएंगे।

     

  •  

Posted Date : 24-Sep-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 24 सितंबर। क्वांर नवरात्रि में इस साल पदयात्रियों की देखभाल में दोयम दर्जे के इंतजाम ने मां के दर्शन के लिए निकले भक्तों को हताश कर दिया है। बदइंतजामी के चलते निराशा में डूबे पदयात्री  अव्यवस्था के होने के बाद भी दर्शन करने जाने विवश हैं। शहर के चारों दिशाओं से रात को भक्तों की खासी भीड़ डोंगरगढ़ जाने निकल रही है।
     नवरात्रि के चौथे दिन में ही पदयात्रियों की सुख सुविधा के लिए बने पंडालों में इंतजाम पूरी तरह से अव्यवस्थित दिख रही है। यही कारण है कि बाहर से आने वाले पदयात्रियों को इस बार सेवा पंडाल की व्यवस्था देखकर मायूसी हाथ लगी है। खासतौर पर महिलाओं की सुविधाओं को लेकर ध्यान नहीं दिया गया है। जिससे महिलाओं को व्यवहारिक परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। इस साल खराब रास्ते और मार्ग में रात्रिकालीन बिजली सुविधा पूरी तरह से पटरी से उतर गई है। रात को सफर में जाने वाले लोगों को अंधेरे से ही गुजरना पड़ रहा है।
     इस साल निजी स्वयं सेवी संगठनों ने व्यवस्था से लगभग हाथ खंीच लिया है। जबकि राजनांदगांव शहर में दर्जनों निजी संस्थाएं समाजसेवा में सतत् होने का दावा करती रही है। अंजोरा से लेकर डोंगरगढ़ के बीच चौतरफा खामिया ही खामियां दिख रही है। राजनांदगांव से मोतीपुर होकर मुसरा के रास्ते डोंगरगढ़ जाने वाला मार्ग पूरी तरह से जर्जर है। उबड़-खाबड़ रास्तों से पदयात्रियों के पैरों को जख्मी कर दिया है। भक्तिभावना में डूबे पदयात्री किसी भी तरह मां के दरबार में जाने की हिम्मत दिखा रहे हैं। जबकि प्रशासन की खराब व्यवस्था ने संस्कारधानी के नाम को धूमिल किया है।  
    इस संबंध में 'छत्तीसगढ़' से चर्चा करते कुछ पदयात्रियों ने बताया कि इस साल उम्मीद के मुताबिक व्यवस्था नहीं है। जिससे पदयात्रियों को निराशा हाथ लगी है। चरोदा भिलाई की विजयलक्ष्मी वर्मा, भिलाई जामुल के राजा यादव तथा दुर्ग के अभिषेक सिंह ने बताया कि सुलभ शौचालय की उचित व्यवस्था नहीं होने से महिला श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं सड़कों व मार्गों में कचरे बिखरे पड़े हैं। डस्टबिन की सुविधा नहीं होने से गंदगी बिखर रहे हैं। जिससे बदबू भी उठने लगी है। ऐसे में पदयात्रियों को मां के दरबार में पहुंचने कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।

  •  

Posted Date : 22-Sep-2017
  • मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए पदयात्रियों का रेला शुरू
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 22 सितंबर। क्वांर नवरात्र में दो दिन के भीतर डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी के दरबार में 40 हजार भक्तों ने माथा टेका है। प्रशासन के हेड काऊंटिग मशीन में भक्तों की तकनीकी रूप से स्पष्ट गिनती हो रही है।
     गुरूवार-शुक्रवार सुबह तक अलग-अलग क्षेत्रो से आए श्रद्धालुओं ने दर्शन कर लिया है। बताया जाता है कि पिछले साल की तुलना में यह संख्या कम है लेकिन मौसम के खुलते ही भक्तो का रेला चारो दिशाओं से आ सकता है। पिछले दो साल से प्रशासन ने सुरक्षागत कारणो से मशीन के जरिए भक्तो की गिनती करने की व्यवस्था शुरू की है। इससे पुलिस को भी मेला व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने में आसानी होती है। बताया जाता है कि मेले स्थल के इर्द-गिर्द ड्रोन कैमरे से भी नजर रखी जा रही है। वही संदिग्ध लोगों को सीसीटीवी में कैद भी किया जा रहा है। नवरात्र के पहले दो दिन भक्तों की भीड़ अपेक्षानुरूप ही रही। प्रशासन का मानना है कि दो दिन मामूली बरसात के बाद भी भक्तो ने दर्शन के लिए खासी रूचि ली। इस बीच डोंगरगढ़ में कल और आज सुबह भी श्रद्धालुओं का सुबह से ही मजमा दिखाई दिया। महाराष्ट्र के अलावा बालाघाट, सिवनी तथा छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों के भक्त मनोकामना पूरा करने के लिए दर्शन करने पहुंच रहे है।
    दिखने लगा पदयात्रियों का रेला
    क्वांर नवरात्र के दूसरे दिन से शहर के पदयात्री मार्ग में धर्मनगरी डोंगरगढ़ स्थित पहाड़ी पर मां बम्लेश्वरी का दर्शन करने वाले पदयात्रियों का रेला दिखने लगा। दर्शनार्थियों की उमड़ी भीड़ से शहर में  चहल-कदमी भी बढ़ गई है। शहर समेत अन्य शहरों से पहुंचने वाले पदयात्री ग्रुप बनाकर सड़क के रास्ते अपनी मनोकामनाएं लिए पैदल माता के जयकारे लगाते आगे बढ़ रहे हैं। 
    वहीं समाजसेवी संस्थाओं ने भी पदयात्री मार्ग में सेवा पंडाल लगाए हुए हैं, जहां  पदयात्रियों के आराम करने, पेयजल समेत चिकित्सा  सुविधा दी जा रही है। क्वांर नवरात्र के दूसरे दिन मौसम के मेहरबान होने से पदयात्री मार्ग में श्रद्धालुओं की भीड़ नजर आ रही है। आगामी दिनों पदयात्रियों की संख्या में इजाफा होने का अनुमान बना हुआ है।

    कार की ठोकर, डोंगरगढ़ जाते भिलाई के पदयात्री युवक की मौत 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 22 सितंबर।  डोंगरगढ़ जाने निकले पदयात्री एक युवक की आज तड़के एक कार की चपेट में आने से  मौत हो गई। मृतक अपने छह दोस्तों के साथ बीती रात  भिलाई से  रवाना हुआ था।  
     एएसपी राजेश अग्रवाल ने 'छत्तीसगढ़' को बताया कि भिलाई का विनय कुमार नामक युवक अपने साथियों के साथ डोंगरगढ़ जाने के लिए पैदल यात्रा कर रहा था। रात लगभग 3 बजे सोमनी-टेडेसरा के बीच एक कार ने विनय को अपनी चपेट में ले लिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। कार चालक ने उसे अस्पताल में  भर्ती कराया जहां  चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया गया कि कार चालक हरप्रीत सिंह  एक निजी स्कूल में कार्यरत है।  घटना को लेकर पूछताछ की जा रही है। हादसे के वक्त मृतक के छह दोस्त तीन-तीन की टोली बनाकर आगे-पीछे चल रहे थे। मृतक के परिवार को पुलिस ने सूचना दे दी है। 

  •  

Posted Date : 19-Sep-2017
  • पुलिस मोर्चाबंदी से नहीं कूच कर पाए रायपुर
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 19 सितंबर। अधूरे बोनस, समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी समेत अन्य मांगों को लेकर मंगलवार को राजधानी रायपुर कूच करने की कोशिश में जुटे किसानों को प्रशासन की तगड़ी मोर्चाबंदी से आगे बढऩे का मौका नहीं मिल पाया।  जिला मुख्यालय राजनांदगांव में भी पुलिस की तगड़ी मुस्तैदी रही। जिला प्रशासन ने पहले से ही  अलग-अलग क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दिया था।  इसके कारण जिला मुख्यालय समेत अलग-अलग क्षेत्रों में सुरक्षागत कारणों का हवाला देकर किसानों को रोक दिया गया।
     किसान महासंघ ने रायपुर पैदल जाकर प्रदर्शन करने का ऐलान किया था।  बताया गया है कि जिलेभर के अलग-अलग इलाकों से आने वाले किसानों को आगे बढऩे नहीं दिया गया। जिससे किसान राजधानी कूच नहीं कर पाए। इस बीच जिला मुख्यालय में पुलिस की तगड़ी पुलिस सुरक्षा व्यवस्था रही।  बालोद, दुर्ग एवं कबीरधाम से भी पुलिस बल  बुलाया गया था। साथ ही सुरक्षा सामग्रियों की भी खेप दूसरे जिलों से मंगाई गई थी। प्रशासन ने  प्रतिबंधात्मक धारा लागू कर किसानों के आंदोलन को एक तरह से गैर कानूनी करार दे दिया। 
    इस संबंध में कलेक्टर भीम सिंह ने 'छत्तीसगढ़' से कहा कि आंदोलन को प्रशासनिक  स्तर पर दबाने जैसा कहीं सवाल नहीं है। धारा 144 होने की वजह से सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई थी। इस बीच किसान आंदोलन से जुड़े कई नेताओं को नजर बंद करने की भी जानकारी मिली है। वहीं सुदेश टीकम, चंदू साहू व संजीत ठाकुर समेत अन्य नेताओं के मोबाइल भी बंद थे। 
    इस बीच कांग्रेस ने किसान आंदोलन को जबरिया दबाने का आरोप लगाते प्रदर्शन किया। जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुरेन्द्रदास वैष्णव, छन्नी साहू, कांति बंजारे समेत अन्य जिला पंचायत सदस्यों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाना पड़ा। महिला जिला पंचायत सदस्य छन्नी साहू के साथ धक्कामुक्की भी हुई। बताया गया है कि आंदोलन को दबाने की कोशिश से किसान काफी नाराज हैं। यह अब किसान की लड़ाई का बड़ा कारण बन सकता है।

  •  

Posted Date : 14-Sep-2017

  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 14 सितंबर। चार गांवों के दौरे पर अपने विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गुरूवार को बुजुर्ग ग्रामीणों का स्वागत कर दौरे का आगाज किया। मुख्यमंत्री ने पहले चरण के दौरे में सिंघोला पहुंचकर लोगों से मुलाकात की। इस मौके पर सरस्वती सायकिल योजना के तहत छात्राओं को साइकिल वितरण करने के अलावा पंचायत की अन्य योजनाओं का भी लोकार्पण किया।
    मुख्यमंत्री ने एक बार फिर उन्हें विधायक बनाने के सफरनामे को याद करते राजनांदगांव विधानसभा के हर गांव के मतदाता के प्रति आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने गांव के पंचायत भवन में उम्रदराज ग्रामीणों का  फूलमाला और शाल भेंटकर सम्मान किया। मुख्यमंत्री का आज सिंघोला से गांव में जाने की शुरूआत हुई। मुख्यमंत्री ने उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते कहा कि मुख्यमंत्री बनने से पहले सिंघोला के ग्रामीणों ने विधायक चुना। पिछले 15 साल से वह राजनांदगांव विधायक की हैसियत से चुनकर सदन में जा रहे है इसके बाद मुझे मुख्यमंत्री बनने का गौरव हासिल हुआ। उन्होंने उज्ज्वला गैस योजना के तहत गांव के 270 हितग्राहियों के लाभान्वित होने पर योजना का भरपूर लाभ लेने की अपील की। 
    उन्होंने कहा कि प्रदेश में 35 लाख उपभोक्ताओं को इसका लाभ दिया जाएगा जिसमें 14 लाख को गैस दिए गए हंै। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंघोला 3 साल की तुलना में बदल गया है। गांवों में चौतरफा विकास की धारा बह रही है। मुख्यमंत्री ने गांव के विकास के लिए महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की। 
    इससे पहले सांसद अभिषेक सिंह ने भी सभा को संबोधित करते कहा कि राज्य सरकार ने किसान वर्ग की सुध ली है। सरकार ने बोनस देकर किसानों के लिए दीवाली की खुशी को दुगुना कर दिया। श्री सिंह ने राजनांदगांव जिले की सभी 9 तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित करने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। इधर मुख्यमंत्री पीटीएस के बजाए मोहारा स्थित हैलीपेड़ में तय समय से लगभग 40 मिनट की देरी से पहुंचे। मुख्यमंत्री के पहुंचने पर विधायक प्रतिनिधि व पूर्व मंत्री लीलाराम भोजवानी, महापौर मधुसूदन यादव, जिलाध्यक्ष संतोष अग्रवाल, राज्य भंडार गृह निगम अध्यक्ष नीलू शर्मा, सहकारी बैंक अध्यक्ष सचिन बघेल, वर्मा, अशोक चौधरी, राज्य अंत्याव्यवसायी वित्त विकास निगम सदस्य पवन मेश्राम, कलेक्टर भीम सिंह और एसपी प्रशांत अग्रवाल ने स्वागत किया।  

     

     

  •  



Previous123Next