रायगढ़

एनटीपीसी पटरी के लिए कटेंगे हजारों पेड़


छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायगढ़, 14 जुलाई। पुसौर से तमनार तक एनटीपीसी की नई रेल लाईन के  लिए 36 गांवों के  हजारों पेड़ काटे जा रहे हंै। वन विभाग ने इसकी अनुमति भी दे दी है।  हरे भरे पेड़ों को काटे जाने के बाद इनकी जगह नए पौधे लगाने के नाम पर कोई योजना भी नहीं बनाई गई है।
इस मामले में एसडीएम प्रकाश सर्वे का कहना है कि  पुसौर के ग्राम लारा में बन रहे एनटीपीसी के पावर प्लांट में कोयला सप्लाई करने के लिए तमनार से सीधे पुसौर तक रेल लाईन बिछाई जा रही है और इसके लिए रेल लाईन की जद में आने वाले  पेड़ काटे जा रहे हंै।  इस मामले में  प्रशासन ने अनुमति दे दी है तथा पेड़ काटे जाने के बाद रेल लाईन बिछाने का काम शुरू हो जाएगा। 
वहीं जिले के वनमंडलाधिकारी विजया रात्रे ने भी बताया कि रायगढ़ से लगे तमनार व रायगढ़ वन मंडल के क्षेत्र में आने वाले 11 हजार से भी अधिक पेड़ काटे जाने की अनुमति दी गई है और यह कटाई वन विभाग की देखरेख में चल रही है। 
उल्लेखनीय है कि रायगढ़ जिले में जहां औद्योगिक प्रदूषण के चलते  लोग हलाकान है वहीं कटते पेड़ों के चलते पर्यावरण को और नुकसान पहुंच रहा है। हर साल इस इलाके से लाखों पेड़ कभी औद्योगिक घरानों द्वारा काट दिये जाते हंै। इसके पहले रेल कारीडोर के नाम पर जंगलों को भारी नुकसान पहुंचाया गया है।


Related Post