खेल

भारत-श्रीलंका तीसरा टेस्ट : हार्दिक का तूफानी शतक, लंच तक 487 रन


कैंडी, 13 अगस्त। भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट कैंडी के पल्लेकेले स्टेडियम में खेला जा रहा है। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 122 ओवर में 9 विकेट गंवा कर 487 रन बना लिए हैं। उमेश यादव (3 रन) और हार्दिक पंड्या (108 रन) क्रीज पर हैं। पल्लेकेले टेस्ट के दूसरे दिन हार्दिक पंड्या ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ दिया है। उन्होंने अपना शतक 86 गेंदों में पूरे किया।
पहले दिन शिखर धवन और लोकेश राहुल ने टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत देते हुए पहले विकेट के लिए 188 रन जोड़ दिए।  शिखर धवन ने 119 रनों की शानदार पारी खेली। जबकि लोकेश राहुल ने लगातार 7वीं बार टेस्ट मैच में अर्धशतक जड़ा।इसके अलावा विराट कोहली ने 42 रन बनाए। श्रीलंका की ओर से मलिंडा पुष्पाकुमारा ने 3, लक्षण रंगीका ने 4 और विश्वा फर्नांडो ने 2 विकेट झटका।
टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया को शिखर धवन और लोकेश राहुल ने जबरदस्त शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 188 रन जोड़े।टीम इंडिया को पहला झटका 39।3 ओवर में लगा। जब पुष्पकुमार की बॉल पर लोकेश राहुल (85) को गुणारत्ने ने कैच कर लिया।दूसरे विकेट के रूप में शिखर धवन (119) आउट हुए। 47।1 ओवर में वे पुष्पकुमार की बॉल पर चांडीमल को कैच दे बैठे। धवन के आउट होने के बाद पुजारा (8) को लक्षण रंगीका और अजिंक्य रहाणे (17) को मिलिंदा पुष्पकुमारा ने पवेलियन भेज दिया।
कप्तान विराट कोहली (42) 296 के स्कोर पर पांचवें विकेट के रूप में आउट हो गए।दिन का खेल खत्म होने से थोड़ी देर पहले 87।6 ओवर में अश्विन (31) का विकेट गिरा। उस वक्त टीम इंडिया का स्कोर 322 रन था।पहले दिन मलिंडा पुष्पकुमार 3 विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज साबित हुए। इसके बाद लक्षण रंगीका संदाकन रहे जिन्होंने 2 विकेट लिए। विश्वा फर्नांडो को 1 विकेट मिला।
शिखर धवन ने पल्लेकेले टेस्ट के पहले ही दिन लंच के बाद शतक जमा दिया। धवन का यह टेस्ट क्रिकेट में छठा शतक है। धवन अपनी इस पारी के दौरान तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी करते नजर आए। उन्होंने अपने 100 रन महज 107 गेंदों में पूरे कर लिए। गौर करने वाली बात ये भी है कि धवन के 6 टेस्ट शतकों में सिर्फ एक शतक भारतीय सरजमीं पर आया है बल्कि पांच शतक विदेशी सरजमीं पर आए हैं।
पल्लेकेले टेस्ट की पहली पारी में लोकेश राहुल 85 रन बनाकर आउट हुए। जो उनके टेस्ट करियर की नौवीं फिफ्टी रही। ये लगातार 7वीं इनिंग में लोकेश का 50+ स्कोर रहा। ऐसा करने वाले वे दुनिया के पांचवें बैट्समैन हैं। उनके अलावा एवर्टन वीक्स (वेस्टइंडीज), एंडी फ्लावर (जिंबाब्वे), शिवनारायण चंद्रपॉल (वेस्टइंडीज), कुमार संगकारा (श्रीलंका) और क्रिस रोजर्स (ऑस्ट्रेलिया) भी ऐसा कर चुके हैं।
इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने लगातार तीसरी बार टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम इंडिया में रवींद्र जडेजा की जगह कुलदीप यादव को शामिल किया गया है। श्रीलंका की टीम में 3 बदलाव हुए हैं लक्षण रंगीका, विश्व फर्नांडो और लाहिरू कुमारा को श्रीलंकाई टीम में शामिल किया गया है।
3 टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले दो मुकाबलों में टीम इंडिया ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की और सीरीज में अजेय बढ़त बनाई। अब बारी है इतिहास रचने की। वो कारनामा करने की जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ। टेस्ट इतिहास में कोई भी भारतीय कप्तान विदेशी सरजमीं पर 3-0 से सीरीज नहीं जीत सका है। अब विराट कोहली के पास ये मौका है, जिसके लिए उसे पल्लेकेले में जीत का तिरंगा लहराना ही होगा। (आजतक)


Related Post

Comments