गैजेट्स

भेजने वाले की पहचान बिना सराहाह पहुंचाता है संदेश




नई दिल्ली, 11 अगस्त।  इंटरनेट की दुनिया इस समय सराहाह ऐप धूम मचा रहा है। यह ऐप गूगल प्ले स्टोर पर टॉप-4 ट्रेंडिग ऐप है। इसको अब तक 50 लाख से 1 करोड़ लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इतना ही नहीं गूगल प्ले स्टोर पर फ्री में डाउनलोड होने वाले ऐप में यह पहले नंबर पर पहुंच गया है। अब आप सोच रहे होंगे कि इस ऐप में ऐसा क्या है जो इसको लेकर इतनी दीवानगी छाई हुई है। दरअसल इस ऐप का नाम अरबी शब्द सराहाह के नाम पर रखा गया है जिसका मतलब होता है कि ईमानदारी। अब बात करते हैं इस ऐप की खासियत की तो इसके जरिए आप किसी को भी मैसेज भेज सकते हैं लेकिन रिसीव करने वाले को यह नहीं पता लग पाएगा कि किसने भेजा है और न ही वह इसका जवाब दे सकेगा।
जब इस तरह के ऐप के बनाने के मकसद पूछा गया तो बताया गया कि इसके माध्यम से कोई भी अपने बारे में दोस्तों और सहयोगियों से सही राय जान सकेगा। सराहाह की वेबसाइट ने बताया कि सही राय जानने के बाद लोग अपनी अंदर की कमजोरियों को दूर कर सकेंगे और लोगों के साथ दोस्ती भी बढ़ा सकेंगे। यह एक लाइट वेट एप्लीकेशन है। इसको डाउनलोड करने के बाद इसमें आपको कस्टम यूआरएल के साथ प्रोफाइल बनाना होगा जैसे (&45.(&45.सराहाह.कॉम। इसके बाद आपके पास चार विकल्प मिलेंगे, मैसेज, सर्च एक्सप्लोर और प्रोफाइल। 
हालांकि इस तरह के ऐप से सुरक्षा को लेकर कई तरह के रिस्क सामने आ सकते हैं। इसका इस्तेमाल साइबर क्राइम करने वाले भी कर सकते हैं एक जहां गूगल, फेसबुक, ट्वीटर यूजर की पहचान पुख्ता करने के लिए कई तरह की कोशिशें कर रहे हैं। वहीं यह ऐप बिलकुल विपरीत है। इस ऐप का इस्तेमाल कर लोग किसी को भी धमकी दे सकते हैं। 
कुल मिलाकर यह क्राइम के लिए बड़ा टूल साबित हो सकता है। इससे पहले भी ऐसा ही एक ऐप शुरू किया गया था लेकिन कई तरह की कानूनी अड़चनों में फंसने के बाद इसको बंद कर दिया गया था।(एनडीटीवी)




Related Post

Comments